FASTAG से हो सकता है नुकसान : न करें गलती

जी हाँ । अगर आप अपनी कार या कोई और गाड़ी जिसपर फास्टैग (FASTAG) लगा हो, उसे बेचने का मन बना रहे है तो फास्टैग से आपको नुकसान हो सकता है । इसलिए अपनी गाड़ी को बेचने से पहले उसपर लगा FASTAG को डिएक्टिवेट करना न भूलें ।

अभी से कुछ समय पहले तक टोल पेमेंट कैश में होता था, जो कि थोड़ा लंबा प्रोसेस था । इससे टोल गेट पर जाम की स्थिति भी बन जाती थी । लेकिन फास्टैग के आने के बाद ये समस्या भी सरल हो गई है ।
फास्टैग एक डिजिटल पेमेंट सर्विस है । इससे आसानी से टोल का पेमेंट किया जा रहा है और टैक्स की राशि वालेट या बैंक से काट ली जाती है ।
यदि आप अपनी गाड़ी को बेचना चाहते हैं तो गाड़ी को बेचने से पहले फास्टैग को डिएक्टिवेट करना न भूलें ।

आइये जानते है फास्टैग को कैसे डिएक्टिवेट करते हैं :-
आप सरकार द्वारा दिये हेल्पलाइन नंबर 1033 पर कॉल कर के फास्टैग से जुड़ी सभी समस्याओं का समाधान करवा सकतें हैं ।
आप अपने सर्विस प्रोवाइडर के कस्टमर केअर नंबर पर कॉल कर के सहायता ले सकते हैं ।
Airtel Payments Bank यूजर्स अकाउंट डिएक्टिवेट करने के लिए 8800688006 नंबर पर कॉल कर FASTag को बंद कराने से जुड़ी सभी जानकारी ले सकते हैं ।
HDFC Bank – 18001201243 पर कॉल करें । यहां आपको FASTag बंद करने से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाएगी ।
PayTm के जरिए 18001204210 पर कॉल कर अपने अकाउंट को बंद कर पाएंगे ।
NHAI (IHMCL) सर्विस यूजर 1033 पर कॉल करें । यहां आप FASTag से जुड़ी सभी शिकायतों के बारे में जानकरी ले पाएंगे ।

अगर आपको हमारी ये जानकारी उपयोगी लगी तो पोस्ट को जरूर लाइक और शेयर करें ।

Spread the love